आॅफिस वर्क के साथ हो जाएगा आपका योगाभ्यास

Yoga At Office
Yoga At Office

7 Yoga Poses You Can Do at Your Work Desk to Relieve Stress

आपको सुबह के समय योगासन करने के लिए यदि पर्याप्त टाइम नहीं मिलता है तो आपको अब ज्यादा फिक्र करने की जरूरत नहीं है. अगर आॅफिस में आपका सिटिंग जॉब है यानी ज्यादातर समय बैठे रहना है तो कुछ योगासन ऐसे हैं जिन्हें आप आॅफिस में रहते हुए भी कर सकते हैं. ज्यादा वक्त तक काम करने या बैठने के गलत तरीके की वजह से कमर दर्द, गर्दन का दर्द और कंधे का दर्द की समस्या हर सेकंड एक इंसान को अपनी चपेट में ले रहा है. इसीलिए योग एक्सपर्ट कुछ ऐसे आसन बताते हैं जिन्हें आप आॅफिस में बैठे-बैठे भी बड़ी आसानी से कर सकते हैं. एक्सपर्ट की माने तो इनसे लंबे वक्त में काफी आराम भी मिलेगा.

स्कंध चक्र :

इसे शोल्डर सॉकेट रोटेशन भी कहते हैं. इस आसन में अलग-अलग तरीके से अपने कंधे को घुमाना है. बाइक या कार चलाने के बाद कंधे में होने वाला दर्द, आॅफिस में कम्प्यूटर पर देर तक काम करते रहने से पीठ और गर्दन की मांशपेशियों में होने वाले तनाव को इस आसन के अभ्यास से दूर किया जा सकता है और ये बेहद आसान भी है.

Skandha Chakra Yoga
Skandha Chakra Yoga

ग्रीवा संचालन : 

ग्रीवा यानी गला. शरीर के अलग-अलग हिस्से को जोड़ने वाली सभी नसें गले से होकर ही गुजरती हैं. लिहाजा देर तक काम करने की वजह से गले और कंधे की मांसपेशियों में खिंचाव आ जाता है. ग्रीवा संचालन यानी गर्दन को घुमाने वाली इस एक्सर्साइज से गर्दन का तनाव दूर होता है. इससे गर्दन की मांसपेशियों की अकड़न भी कम होती है. ये आसन सिर के भारीपन को कम करके हल्कापन लाता है.

ग्रीवा संचालन
ग्रीवा संचालन

अर्द्ध मत्स्येंद्रासन या हाफ स्पाइनल ट्विस्ट :

इस आसन को करने से पीठ और पेट की एक तरफ की मांसपेशियों में तनाव आता है जबकि दूसरी तरफ की मांसपेशियां सिकुड़ती हैं. इससे पीठ के मसल्स लचीले बनते हैं जिससे मांसपेशियों में होने वाले जकड़न से छुटकारा मिलता है. साथ ही पाचन तंत्र से जुड़ी समस्याएं भी दूर होती हैं. इस आसन को आॅफिस में अपनी कुर्सी पर बैठकर भी किया जा सकता है.

How to do Ardha Matsyendrasana
How to do Ardha Matsyendrasana

उज्जायी प्राणायाम :

उज्जायी वह प्रक्रिया है जिसमें फुप्फुस पूरी तरह फैलाये जाते हैं और सीना बाहर निकालकर सांस की क्रिया की जाती है. उज्जायी प्राणायाम को बैठकर या खड़े होकर भी किया जा सकता है. इसको करने से शरीर में गर्मी आती है और दिमाग के साथ ही तंत्रिका तंत्र में भी शांति और स्थिरता आती है. इस आसन को करने से तनाव तो कम होता ही है नींद नहीं आने की समस्या भी दूर होती है.

उज्जायी प्राणायाम
उज्जायी प्राणायाम
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *