ये हैं दुनिया के सबसे बदसूरत जानवर

धरती पर मौजूद कुछ जीवों की प्रजातियां तो बहुत खूबसूरत हैं, वहीं कुछ इतनी बदसूरत हैं, जिन्हें देखकर आप भी डर जाएंगे. नेशनल जियोग्राफिक ने भी इन जानवरों को दुनिया के सबसे बदसूरत जीवों की श्रेणी में रखा है. जानते हैं, इनके बारे में..

ब्लॉब फिश

बदसूरत जानवरों में यह पहले पायदान पर है. इसमें हड्डियां नहीं होतीं. ये जैली फिश जैसा होती है, जिसके कारण ये पानी की सतह पर आसानी से तैरती है.

रेड-लिपपेड बैटफिश

इसकी सूरत में लाली का झोल ही इसे बदसूरती की श्रेणी में लाता है. हालांकि इस लाली के जरिए ही ये फिश विपरीत लिंग को आकर्षित करती है. ये पानी के 100 फुट अंदर रहती है, पर ये संख्या में कम ही है. यह मछली करीब 40 सेंटीमीटर लंबी होती है.

होर्सेसहोए बैट

इसके चेहरे से ज्यादा बड़े कान होते हैं, जो इसकी बदसूरती में चार चांद लगाते हैं. इन्हीं की बदौलत ही ये सुई गिरने की आवाज भी सुन सकता है. ये बैट  उष्णकिटबंध और नरम क्षेत्नों में पाए जाते हैं. आमतौर पर ये ब्राउन कलर के होते हैं, लेकिन कभी-कभार ये लाल रंग के भी दिखते हैं. इनकी लंबाई 3.5 से 11 सेंटीमीटर होती है और वजन 5 से 30 ग्राम.

आए-आए

चालू चेहरे वाला ये जीव अपने नाम की तरह दिखने में भी अजीब है. ये रात के समय ही बाहर निकलते हैं. इसके पास बड़े-बड़े कान हैं. ये मैडागास्कर के आईलैंड में ही देखने को मिलेंगे.

स्टार नोस्ड मोल

दुनिया में सबसे अनोखी नाक अगर किसी जीव की है, तो वो यही है. ये जीव अपना अधिकतर समय पानी में ही बिताता है, लेकिन खाने की तलाश में जमीन पर भी आता है. ये जमीन में सुरंगें बनाकर रहता है. ये पूर्वी कनाडा और पूर्वोत्तर संयुक्त राज्य अमेरिका के क्षेत्नों में पाए जाते हैं.

टर्की वल्चर

 ये पक्षी आंखों और नाक का इस्तेमाल ऊंचाई पर उड़ते हुए ताजा लाशों को खोजने के लिए करता है. भले ही इसके चेहरे के फीचर खराब हों, लेकिन ये उन्हीं की मदद से भोजन खोजता है.

चाइनिज क्रेस्टेड डॉग

बिन बालों वाला इस चाइनीज कुत्ते की लंबाई में 33 सेंटीमीटर से भी कम होती है. दिखने में यह टॉय डॉग-सा लगता है. इसकी खासियत है, ये लोगों का मूड आसानी से जान लेता है. यह डॉग सोशल होने के साथ-साथ तेज दौड़ने और ऊंची छलांगे लगाने में माहिर हैं.

प्रोबोस्किस मंकी

इस बंदर की नाक ही इसकी बदसूरती का कारण है. ये बंदर बोर्नियो के दक्षिण पूर्व एशियाई द्वीप पर पाया जाता है. इसकी नाक ही इसकी पहचान है. जब ये पैदा होता है, तो इसका चेहरा नीला और नाक छोटी होती है. ये पत्ताें, बीजों और कच्चे फलों पर ही जिंदा रहता है. इसकी उम्र करीब 40 साल होती है.

ये भी हैं अजीबोगरीब जानवर

–  लंबे कानों, पूंछ, तेज दांत और हड्डी सी दिखने वाली पतली अंगुली के कारण यह लैमूर दिखने में बदसूरत होता है.

– नेकेड मोल: नेशरल जियोग्राफिक ने केन्या में पाए जाने वाले इस नेकेड मोल को दुनिया का सबसे अटपटा दिखने वाला जानवर माना है.

– दिखने में बदसूरत टिटिकाका नाम का यह मेंढ़क अपने फैलने वाली स्किन के कारण एक बार में ज्यादा ऑक्सीजन सोखने की क्षमता रखता है.

– सुनहरे भूरे रंग वाली यह बैबून मकड़ी दिखने में ही खतरनाक है.

– लंबी नाक वाला यह चूहा कैरेबियन ड्वेलिंग सोलेनोडन है, दिखने में यह घिनौना होता है.

–  कजाखस्तान व साइबेरिया के कुछ हिस्सों में ही यह सैगा एंटेलोप पाया जाता है. इस प्रजाति को दुनिया की लुप्तप्राय प्रजाति में रखा गया है.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *