The Smart Way To Save Money
The Smart Way To Save Money

महंगाई आसमान छू रही है. इसके मुकाबले लोगों की सैलरी में बढ़ोतरी नहीं हो रही. नोटबंदी और जीएसटी के बाद तो लोगों की बची-खुची बचत भी बाहर निकल आई. इसके बाद महिलाओं को बचत करने में भी डर लगने लगा है, लेकिन बता दें कि इस महंगाई के जमाने में भी आप अपनी अंटी में पैसा बचाकर रख सकती हैं. बस, आपको थोड़ा स्मार्ट होना पड़ेगा. जानते हैं, स्मार्टनेस से बचत करने के तरीके…

दादी से सीखें

तथ्यों के अनुसार आप हर माह गुजारे के लिए पर्याप्त धन कमा लेते हैं, लेकिन जीवन पैसे खींचने वाली चीजों से अटा है. अपनी दादी से सीखें और जानें कैसे वो इच्छाओं के बजाय जरू रतों पर ध्यान केंद्रित रखती थीं. बेहतर है कि घर का पूरे काम से लेकर ब्यूटी पार्लर तक का काम खुद करें.

Money Saving Tips
Money Saving Tips

प्रकृति से पाएं सुंदरता

बाजार से महंगे सौंदर्य प्रॉडक्ट चुनने की बजाय किचन से वे सौंदर्य उपाय चुनें, जिन्हें दादी अपनाया करती थीं. नींबू के रस से लेकर मेथी के पत्तों तक-आपको बहुत कुछ मिल जाएगा. इसके अलावा घर में किचन गार्डन (या शहरों में जहां जगह की कमी है, छोटे हिस्से में) लगाकर सब्जियों की साप्ताहिक खरीदारी घटाएं. इसके अलावा जिन कपड़ों की जरू रत नहीं है, उन्हें फेंकने से पहले देखें, क्या आप इन्हें इस्तेमाल में ला सकती हैं?

Dont Buy Cosmetic From Market
Dont Buy Cosmetic From Market

तकनीक का प्रयोग

पिंटरेस्ट या यूट्यूब जैसी सोशल साइट्स पर वीडियोज आजमाएं. अच्छी तरह ब्लो-ड्राय करने से लेकर कमरे के लिए सजावट की चीजें बनाने तक वहां मिलेगा.

बचत ही कमाई है

आपको याद है, दादी घर के बजट से कुछ पैसे निकालकर अलग रख देती थीं, ताकि आपातकालीन फंड उपलब्ध रहे. इसी तरह आपको भी आपातकालीन फंड में तीन से छह माह तक का खर्च अलग से रखना चाहिए. नियमित मासिक खर्च की सूची बनाकर पता करें कि इनमें से किसमें कटौती कर सकती हैं. अपने बजट को समय-समय पर जांचें और सुनिश्चित करें कि आपका आपातकालीन फंड ऊंचे स्तर पर हो.

SAVING IS EARNING
SAVING IS EARNING

आय के स्रोतों का आकलन

नियमित (जैसे-वेतन) और सामयिक आय के स्रोतों (जैसे-फ्रीलांस प्रोजेक्ट्स से आनेवाले पैसे) को अलग करें. समय-समय पर आनेवाली आय का प्रयोग एकमुश्त निवेशों के लिए और नियमित आय का प्रयोग मासिक निवेशों के लिए करें.

किफायती योजनाएं

खरीदारी का समय निर्धारित करें. सीजनल सेल्स, एक्सचेंज आॅफर्स और डिस्काउंट कूपन्स पर नजर होनी चाहिए. जब बात बचत की हो, तो टालें नहीं. छोटी राशि से शुरु आत करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *