Shree Rani Sati Dadi Mandir
Shree Rani Sati Dadi Mandir

भारत जैसी पवित्र भूमि पर कई प्राचीन मंदिर हैं, जो कि बेहद चमत्कारी है और लोग दूर-दूर से इन मंदिरों के दर्शन के लिए आते है. ऐसा ही राजस्थान के शहर झुंझुनू के बीचों-बीच में रानी सती का एक बेहद प्राचीन मंदिर स्थित है. झुंझुनू शहर का प्रमुख दर्शनीय स्थल भी माना जाता है और संगमरमर से निर्मित यह मंदिर बाहर से देखने में ये मंदिर किसी राजमहल स कम नहीं लगता है.

Rani Sati Temple in Rajasthan
Rani Sati Temple in Rajasthan

बता दें, रानी सती यह मंदिर 400 साल पुराना है व इसकी बाहरी दीवारों पर शानदार रंगीन चित्रकारी की गई है. सम्मान, ममता और नारी शक्ति का प्रतीक यह मंदिर यहां के लोगों की आस्था का प्रतीक भी है. केवल इतना ही बल्कि यहां के स्थानीय लोग रानी सती को मां दुर्गा का अवतार मानते हैं.इस मंदिर के परिसर में और भी कई मंदिर हैं जिनमें, शिवजी, गणेशजी, माता सीता और राम भक्त हनुमान के मंदिर हैं. मंदिर परिसर में ही षोडश माता का मंदिर भी स्थित है जिसमें 16 देवियों की मूर्तियां स्थापित हैं इसके अलावा, परिसर में सुंदर लक्ष्मीनारायण का मंदिर भी बना हुआ है.

Rani Sati Temple
Rani Sati Temple

यहां के स्थानीय लोगों का विश्वास है कि रानी सती जी, स्त्री शक्ति की प्रतीक और मां दुर्गा का अवतार थीं. उन्होंने अपने पति के हत्यारे को मारकर बदला लिया और फिर अपनी सती होने की इच्छा पूरी की. वैसे अब मंदिर का प्रबंधन सती प्रथा का विरोध करता है. जिस वजह से मंदिर के गर्भ गृह के बाहर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा है कि “हम सती प्रथा का विरोध करते हैं.” वैसे, रानी सती मंदिर भारत के सबसे अमीर मंदिरों में से एक है. मंदिर सुबह 5 बजे से दोपहर 1 बजे तक और शाम 3 बजे से रात्रि 10 बजे तक खुला रहता है. बता दें, मंदिर में शनिवार और रविवार को खासतौर पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है. इस मंदिर में भाद्रपद माह की अमावस्या पर विशेष धार्मिक अनुष्ठान आयोजित किया जाता है, जिसमें हिस्सा लेने दूर-दूर से श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं. वहीं, दूर-दूर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए मंदिर में रुकने की भी व्यवस्था की गई है.

Rani Sati Temple Rajastan
Rani Sati Temple Rajastan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *