Kali Mata Temple Where Bhog is Noodlesभारत में सभी धर्मों के मंदिर मौजूद हैं. वहीं, हर मंदिर की  कुछ ना कुछ मान्यता भी ज़रूर होती हैं. इसी तरह कोलकाता के टंगरा डिस्ट्रिक्ट में आपको मां काली का एक ऐसा मंदिर है, जो काली के दूसरे मंदिरों से बिल्कुल अलग है. हालांकि इस मंदिर में विराजमान काली मां की मूर्ति भी आपको दूसरे मंदिरों के जैसे ही लगेगी.

परंतु, इस मंदिर को जो अलग बनाता है, वो है यहां चढ़नेवाला प्रसाद और यहां आनेवाले भक्त. दरअसल, इस मंदिर में काली मां को खाने की चाइनीज चीज़ों का भोग लगता है. जैसे नूडल्स, मोमोज, फ्राइड राइस आदि और बाद में इसे भक्तों के बीच प्रसाद के रूप में बांटा जाता है. वैसे, इस बात से ही मंदिर को चाइनीज काली मंदिर के नाम से जाना जाता हैं. लेकिन, सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इससे ज्यादा हैरानी आपको यह जानकर होगी कि यहां आनेवाले ज्यादातर भक्त भी चाइनीज होते है. दरअसल,  60 साल पुराने इस मंदिर में  काफी समय से बीमार चल रहे चाइनीज बच्चे को लाया गया था और यहां आते ही उन बच्चों की बीमारी खत्म हो गई थी. जिस वजह से चीनी लोगों का देवी की शक्तियों के प्रति विश्वास गहरा हो गया.Chinese kali temple

जिसके कुछ वक्त के बाद कुछ चीनी लोगों ने वहां पर काली मंदिर का निर्माण करवाया, जिसे चाइनीज काली मंदिर के नाम से जाना जाने लगा. फिलहाल 55 साल के इसोन चेन इस मंदिर की देखभाल करते हैं. वहीं, इस मंदिर में प्रणाम भी चाइनीज स्टाइल में ही किया जाता है. बता दें, इस मंदिर में काली माता के सामने कैंडल्स और चाइनीज अगरबत्तियां जलाईं जाती है और यही वजह है कि इस मंदिर में दूसरे काली मंदिरों से अलग खूशबू भी आती है. वहीं, नवरात्रों में कुछ चाइनीज व्रत भी रखते हैं और इस दौरान वे आम हिंदुओं की तरह फल और व्रत का खाना ही खाते हैं.

Chinese kali Maata temple

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *