अब हर पेपर में अच्छे मार्क्स आएंगे!

score good marks

score good marks

एग्जाम का हौए का डर हर स्टूडेंट के अंदर होता है, लेकिन पेपर में अच्छा स्कोर करना इतना कठिन भी नहीं है. थोड़ी प्लानिंग और कुछ आसान तरीकों को जानकार न सिर्फ घबराहट दूर होगी, बल्किआप अच्छे नंबरों के मामले में भी किसी से पीछे नहीं रहेंगे.

सुबह की पढ़ाई 

early morning study

वैसे तो सभी जानते हैं कि सुबह पढ़ना कितना लाभदायक है, क्योंकि अच्छी नींद के बाद आप ताजा और ऊर्जा से भरे होते हैं. सुबह के समय शांति का भी माहौल रहता है, इसीलिए कहते भी हैं, जल्दी सोना, जल्दी उठना व्यक्ति को स्वस्थ, संपन्न और बुद्धिमान बनाता है. सुबह की हुई पढ़ाई लंबे समय तक याद रखते हैं.

अच्छा खाएं 

EAT WELL DURING EXAM

अच्छे नंबर के लिए अच्छा खाना भी होगा. डाइट ऐसी होनी चाहिए, जिसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक हो. खाने में हरी सब्जियां, ताजा फल, डेयरी उत्पाद, अंडे, मछली और मीट शामिल करें. सूप, ग्रीन टी और फ्रेश जूस डाइट चार्ट में हो. जंक फूड से दूरी बनाएं.

समय प्रबंधन

planning for exam

किसी भी क्षेत्र में सफलता पाने का पहला नियम टाइम मैनेजमेंट है. अच्छे नंबर पाने के लिए टाइम मैनेजमेंट पर विशेष ध्यान दें. हर विषय को समयानुसार बांट लें. जिस विषय में पकड़ कमजोर है, उसे ज्यादा समय दें. जो टॉपिक आते हैं, उन्हें अक्सर दोहराने के लिए हम पूरा समय नहीं देते. ये गलती ना करें, बल्किविषय के लिए बराबर का समय निश्चित करें.

कॉन्सेप्ट समझें

सिलेबस के हिसाब से तैयारी ना करें. जरू री है, पहले विषय को समझें और फिर आगे बढ़ें. कई बार होता है, आप रटकर एग्जाम में जाते हैं. अगर प्रश्नपत्र में सवाल थोड़ा अलग हो जाता है, तो घबराहट होती है. ऐसे में विषय को समझकर एग्जाम में बैठेंगे, तो हर तरह से जवाब देने के लिए तैयार होंगे.

नोट्स बनाएं

make notes

बनाए हुए नोट्स हमेशा आपकी मदद करेंगे. जब भी पढ़ें या रिविजन करें, तो ध्यान से उसके नोट्स बनाते चलें.

सैंपल पेपर

ज्यादातर मौके पर हर कोई सैंपल पेपर हल करने की सलाह देता होगा. यह कारगर हो सकता हैं. पिछले कुछ वर्षों के प्रश्नपत्रों को इकठ्ठा कर कई सवाल जान सकते हैं. उन प्रश्नों को हल करें. इससे आपके अंदर विश्वास पैदा होगा. साथ ही सिलेबस भी पूरा किया जा सकेगा.

टालें नहीं

‘कल करे सो आज कर, आज करे सो अब’ ये कहावत याद रखें. अक्सर बच्चे पढ़ाई टालते हैं. बाद में पूरा सिलेबस देखकर दवाब में आ जाते हैं. अधूरा काम बाद में करने से रिजल्ट पर असर पड़ता है. प्रतिदिन लक्ष्य निर्धारित करके उसी हिसाब से तैयारी करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *