जहां एक तरफ पूरी दुनिया में कई सारे खूबसूरत पुल है. तो वहीं, कुछ ऐसे पुल भी है जो खतरनाक होने के साथ-साथ बेहद फेमस भी है. जिसे देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते है. तो चलिए आज हम आपको पाकिस्तान के  एक ऐसे ही खतरनाक और फेमस पुल के बारें में बताएंगें. जिसके बाद शायद ही आप उस पर जाना पसंद करेंगें.

जी हां, हम बात कर रहे है हुसैनी सस्पेंशन ब्रिज की जो हुंजा एरिया में बोरिक लेक के ऊपर बना हुआ है. बता दें, साल 1960 में पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति अयूब खान जराबाद में शिकार खेलने आए थे. तब उन्होंने यहां सस्पेंशन ब्रिज बनाने का आदेश दिया था. हालांकि उनके आदेश के बाद भी ब्रिज 1967-68 तक ही बन पाया था.वहीं, इस ब्रिज को लोहे की तारों और लकड़ी की पट्टीयो से जोड़कर बनाया गया है और यह पाकिस्तान के जराबाद और हुसैनी गांव को आपस में जोड़ने का काम करता है. हो ना हो पर इस पुल पर चलना किसी एडवेंचर से कम नहीं है.

hussaini-suspension-bridge

दरअसल, साल 2011 में भूस्खलन की वजह से यह पुल पूरी तरह से बर्बाद हो गया था. उसके बाद यहां की सरकार ने फिर से वैसा ही नए सस्पेंशन पुल का निर्माण करवाया. पहले वाले पुल की तरह नया पुल भी काफी खतरनाक है. इसमें दो लकड़ी के पटियों के बीच गैप भी काफी ज्यादा है. तेज हवाएं इस पुल को हिलाती रहती हैं. जिसके कारण इस पुल को पार करना और भी खतरनाक हो जाता है. हालांकि, इस खतरे के बावजूद गांव के लोग रोज़ाना इस पुल का इस्तेमाल करते हैं. जहां एक तरफ यहां की स्थानीय महिलाएं इस पर भारी बोझ लेकर चलती है तो वहीं, दूसरी तरफ कई बच्चों को स्कूल जाने-आने के लिए दिन में दो बार इस पुल से गुजरना पड़ता है.

suspension bridge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *