Breaking News
Home / Bizarre News / सभी तरह के वास्तु दोषों को दूर करता है तुलसी का पौधा !

सभी तरह के वास्तु दोषों को दूर करता है तुलसी का पौधा !

भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग तथा सनातन हिंदू धर्म में पूजनीय तुलसी का वास्तु शास्त्र में भी विशेष स्थान है. वैसे, इसकी पूजा करने से ना केवल सभी तरह के कष्ट दूर होते है बल्कि इसे घर में लगाने से सकारात्मक ऊर्जा का तो वास होता ही है साथ ही साथ घर के सभी वास्तु दोष भी दूर होते है. वहीं, आज हम आपको इस लेख के जरिए तुसली से संबंधित कुछ ऐसे उपाय बताएंगें जिसकी मदद से आप घर में मौजूद सभी तरह के वास्तु दोषों को दूर कर पाएंगे.

Tulsi Plant
Tulsi Plant
  • अगर आपका बच्चा बेहद जिद्दी होने के साथ-साथ आपकी बात नहीं मानता है तो आप पूर्व दिशा में रखी तुलसी के पौधे के तीन पत्ते रोजना उसे किसी न किसी तरह खिलाए.
  • वहीं यदि आपकी बेटी की शादी में किसी तरह का विलंब आ रहा है तो तुलसी के पौधे को दक्षिण-पूर्व में रखकर उसे नियमित रूप से जल चढ़ाए. इससे जल्द ही आपकी बेटी को योग्य वर मिलेगा.
  • अगर आपके ऑफिस में किसी कर्मचारी या बॉस के साथ अच्छी नहीं बनती तो ऑफिस में जहां भी खाली जगह हो वहां पर सोमवार को तुलसी के सोलह बीज किसी सफेद कपड़े में बांधकर कोने में दबा दें. इससे न केवल आप दोनों के रिश्तों के बीच की कड़वाहट कम होगी बल्कि टेंशन भी दूर रहेगी.
  • यदि आपका बिजनेस सही तरीके सही नही चल रहा है या उसमें किसी तरह का आपको लाभ नहीं हो रहा है तो तुलसी के पौधे को नैऋत्य कोण में रखकर हर शुक्रवार को कच्चा दूध चढ़ाएं.
  • हिन्दू मान्यता के अनुसार तुलसी किसी-किसी की बंद किस्मत को भी चमका सकती है. इसीलिए कोई भी शुभ कार्य करते समय तुलसी की पत्ती को मुंह में डालना ना भूलने.
  • तुलसी का पौधा घर में होने से घर वालों को बुरी नजर प्रभावित नहीं करती और अन्य बुराइयां भी घर और घरवालों से दूर ही रहती है। मगर
  • तुलसी के पौधो को घर में उत्तर-पूर्व दिशा व जमीन से कुछ उंचाई पर रखिए. ऐसा करने से आप और बाकि के घर वालों पर किसी भी तरह की बुरी नजर का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.

About Funduc

Check Also

Kangana Ranaut Affairs

अफेयर्स को लेकर चर्चा में रहती हैं कंगना राणावत

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना राणावत आज इंडस्ट्री की एक बड़ी एक्ट्रेस हैं. उनका प्रोफेशनल करिअर ऊँचाइयों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *