City Of Ghostsवैसे तो कुछ लोग भूतों से जुड़े किस्सों पर यकीन नहीं करते, लेकिन आज भी भारत के कई ऐसे क्षेत्र हैं, जहां भूतों से जुड़ी ऐसी कई मान्यताएं है,  जिन्हें लोग सदियों से निभाते चले रहे हैं. मध्य प्रदेश के बैतूल जिले से 42 किमी दूर चिचोली तहसील मुख्यालय से करीब सात किलोमीटर की दूरी पर बसे मलाजपुर गांव में हर साल मकर संक्रांति की पहली पूर्णिमा से भूतों का मेला शुरू होता है. जिसमें मध्यप्रदेश सहित महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, राजस्थान और आसपास के कई राज्यों से लोग अपने परिजनों को प्रेतबाधा से मुक्त करवाने के लिए आते हैं.

देवजी महाराज मंदिरमें लगने वाला येभूत मेलाबुरी आत्माओं को दूर करने और भूतप्रेत भगाने के लिए लगता है. बसंत पंचमी तक चलने वाले इस भूत मेले में शाम की पूजा के बाद लोग मंदिर की परिक्रमा करते हैं और जो लोग नॉर्मल होते हैं, वो सीधी दिशा में परक्रिमा करते हैं और जिन पर भूत का साया होता है, वो उलटी दिशा में चलते हैं. साथ में सभीगुरु महाराज की जयबोलते जाते हैं और साथ ही उन पर मंत्र उच्चारण के साथसाथ पवित्र पानी भी छिड़का जाता है. सिर्फ इतना ही नहीं जिन पर भूतप्रेत का साया होता है वह लोग कपूर जलाकर अपने हाथ और मुंह में रख लेते हैं.City Of Ghosts In MP State

मान्यता है कि यहां आने से अगर लोगों की समस्या ठीक हो जाती है तब उन्हें यहां गुड़ से तौला जाता है. इस रिवाज के कारण यहां बहुत ज्यादा गुड़ जमा हो जाता है, जिसे प्रसाद के तौर पर बांटा जाता है. अब इसे चमत्कार कहें या कुछ और लेकिन यहां काफी मात्रा में गुड़ जमा होने के बाद भी उस पर कीड़े, मक्खियां या चीटियां नहीं लगती हैं जिस वजह से लोग इसे गुरु साहब बाबा का चमत्कार मानते हैं.

बता दें, ये मेला कई साल से लग रहा है मान्यता है कि 1770 में गुरु साहब बाबा नाम के साधु थे. जो राजपूत थे और उनके पास कई चमत्कारिक शक्तियां थीं, जिससे वह भूतप्रेतों को अपने वश में कर लेते थे.केवल इतना ही नहीं बल्कि वो अपनी शक्तियों से रेत को शक्कर में और मिट्टी को गुड़ में बदल देते थे. गांव के सभी लोग उन्हें भगवान का स्वरूप मानते थे और उन्होंने वृक्ष के नीचे जिंदा समाधी ले ली. वहीं, गांववालों ने यहां पास में ही एक मंदिर बनवा दिया और उनकी याद में हर वर्ष मेले का शुभारंभ करवा दिया. उनकी याद में गांव वाले भूतों के मेले में बढ़चढ़कर भाग लेते हैं और बाबा के जाने के बाद भी यहां प्रेतबाधा से पीड़ित व्यक्ति को छुटकारा मिलता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *