भगवान शि‍व
भगवान शि‍व

भगवान शिव उन देवताओं में से हैं जिन्हें सादगी और सच्चाई पसंद है. उन्हें प्रसन्न करने के लिए छप्पन भोग या हीरे जेवहरात की आवश्यकता नहीं है बल्कि वो तो सच में इतने भोले बाबा है कि अगर उन्हें सच्चे मन से एक लोटा पानी और कच्चा फल तक चढ़ा दिया जाएं तो वो खुश हो जाते है. परंतु, भगवान महादेव जितनी जल्दी प्रसन्न होते है उतनी ही जल्दी नाराज भी होते हैं. खासतौर से ऐसे लोगों से, जो बेईमानी और धोखेबाजी करते हैं. वैसे, भोलेनाथ केवल गलत काम करने वाले लोगों को  ही नहीं बल्कि गलत सोच रखने वाले लोगों को भी नापसंद करते है. तो चलिए आज हम आपको इस लेख के जरिए उन पापों के बारें में बताएंगे जिन्हें करने वालों को भगवान शिव कभी माफ नहीं करते.

  • कुछ लोगों को दूसरों की खुशियां बर्बाद करने, किसी के काम को बिगाड़ने, नुकसान पहुंचाने में बेहद मज़ा आता है. ऐसे काम करने वाले लोगों को भगवान शिव बहुत बड़ा दंड देते हैं.
  • किसी भी महिला का अपमान करना या अपनी बातों से उनका दिल दुखाना केवल महादेव को ही नापसंद नहीं है. बल्कि, चाणक्य का भी यही कहना था कि जिस घर में स्त्री का आदर नहीं होता वहां किसी भी देवी देवता का वास नहीं होता. दरअसल, स्त्री को कटु वचन कहने से मां लक्ष्मी रूठ जाती है और हमेशा के लिए ऐसा करने वालों के घर को त्याग देती हैं.
  • किसी के प्रति मन में हीन भावना रखना या फिर किसी के प्रति बुरी सोच रखने वाले लोगों को भी भगवान शिव के क्रोध का सामना करना पड़ता है.
  • दूसरे के धन पर बुरी नज़र रखना,पैसों की हेराफेरी भी पाप की श्रेणी में आता है. इसके अलावा, अगर आपने किसी से पैसे उधार लिए है तो आपको बिना बेईमानी किए उसका सारा पैसा वापिस कर देना चाहिए. क्योंकि, दूसरों के पैसों को गलत नीयत के साथ अपना बनाने की चाह रखने वाले लोगों को भगवान शिव अवश्य दंड देते है.
  • इसके अलावा, किसी भी ब्राह्मण, सन्यासी या तपस्वी का अपमान करना, शराब पीना, किसी पराई स्त्री के साथ अवैध सम्बन्ध बनाना, गोशाला या जंगल में आग लगाना भी भगवान शिव की नज़रों में पाप है. ऐसे लोगों को भी भोलेबाबा कभी क्षमा नहीं करते.

One thought on “ये 5 पाप करने वाले मनुष्य को भगवान शि‍व देते हैं कठोर दंड”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *