आजकल के बिजी लाइफस्टाइल में हम ने केवल अपने खान-पान बल्कि नींद के साथ भी समझौता करते है, जिसका असर हमारे शारीरिक और मानसिक स्तर पर भी पड़ता है. वैसे तो एक स्वस्थ शरीर के लिए रोज़ाना कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लेना बहुत ज़रूरी होता है. लेकिन, सोते वक्त सही करवट लेकर सोना भी बेहद आवश्यक होता है क्योंकि इसका असर न केवल हमारे अंगों पर बल्कि मस्‍तिष्‍क पर भी पड़ता है. तो चलिए जानते है बाई तरफ़ करवट लेकर सोने के 7 फ़ायदें..

Sleeping Habits

पेट की समस्याएं : बाईं ओर करवट लेकर सोने से पेट के फूलने की परेशानी, पेट में गैस होने की परेशानी या फिर एसिडिटी बनने की परेशानी, आदि से निजात मिलता है. इसके अलावा, पाचन तंत्र भी मज़बूत होता है, जिससे सुबह बिना परेशानी से पेट साफ़ हो जाता है.

पेट की समस्याएं

लीवर और किडनी के लिए होता है बेहद फ़ायदेमंद : बाई ओर करवट लेकर सोने से लीवर और किडनी दोनों को फ़ायदा होता है. दरअसल, ऐसे सोने से शरीर में जो भी विशैले पदार्थ होते हैं, वह धीरे-धीरे लसिका तंत्र द्वारा बाहर निकल जाते हैं. जिस से एसिडिटी और सीने में जलन नहीं होती.लीवर और किडनी के लिए होता है बेहद फ़ायदेमंद

दिल रहे स्‍वस्‍थ : दरअसल रात में गल्त पोज़िशन में सोने से दिल पर ज़्यादा ज़ोर पड़ता है. वहीं, बाई ओर करवट लेकर सोने से दिल पर ज़ोर कम पड़ता है क्योंकि उस वक्त दिल तक खून की सप्लाई काफी अच्छी मात्रा में हो रही होती है. बता दें, अगर दिल स्‍वस्‍थ रहेगा तो ही खून व आक्‍सीजन की सप्‍लाई आसानी से पूरे शरीर और दिमाग तक पहुंच पाएगी.

दिल रहे स्‍वस्‍थ

पीठ का दर्द :  जो लोग बाई ओर करवट करके सोते है, उनकी रीढ़ पर बिल्‍कुल भी ज़ोर नही पड़ता और बैकपेन में भी आराम मिलता है. इसके अलावा इस स्थिति में सोने से बेहद बढ़िया और गहरी नींद आती है.

हाथ-पैरों की सूजन : बाई ओर करवट लेकर सोने से गर्भवती महिलाओं का रक्त प्रवाह सही रहता है जो कि गर्भस्थ शिशु के स्वास्थ के लिए भी उत्तम है. दरअसल, इससे हाथ-पैरों की सूजन भी कम होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *